22 मार्च 2017

झूठी गवाही बहुत बड़ा गुनाह है

झूठी गवाही बहुत बड़ा गुनाह है

झूठी गवाही बहुत बड़ा गुनाह है


*झूठी गवाही से बचो*
*इल्जाम लगाना छोड़ दो*

♨♨♨♨♨♨♨♨♨

झूठी गवाही देना और किसी पर इल्ज़ाम लगाना बहुत ही बुरा काम है,

*सरकारे मदीना* صلی اللہ علیہ وسلم
के इर्शादात पढीये, और अपनी आख़िरत की फ़िक्र करते हुये इस कबीरा गुनाह से खुद बचें और दूसरों को बचायें,

*झूठे गवाह के क़दम हटने भी न पायेंगे कि अल्लाह तआला उसके लिये जहन्नम वाजिब कर देगा*
📕इब्ने माजा, हदीस नं, 2373

*जिस ने किसी मुसलमान को ज़लील करने की ग़र्ज़ से उस पर इल्ज़ाम लगाया तो अल्लाह तआला जहन्नम के पुल पर उसे रोक लेगा, यहां तक कि अपने कहने के मुताबिक़ वो अज़ाब पा ले*
📕अबू दाऊद, हदीस नं 4883

*जो किसी मुसलमान पर ऐसी चीज़ का इल्ज़ाम लगाये जिस के बारे में वो ख़ुद भी नहीं जानता हो, तो अल्लाह तआला उसे* (जहन्नमियों के ख़ून व पीप जमा होने की जगह)
*"रदग़तुल ख़बाल"* *में उस वक़्त तक रखेगा जब तक कि अपने इल्ज़ाम के मुताबिक़ अज़ाब पा न ले*
📕मुसन्निफ अब्दुर्रज़्ज़ाक़, हदीस नं 20905

Post ko Share Zaroor Karen


Ye bhi Padhen  ↓ ↓ ↓ ↓ ↓ ↓
► Ruhaani Ilaaj Quran Se
► Dini Knowledge
► Nabiyon Ka Bayaan

Yahan Se Download Karen  ↓ ↓ ↓ ↓ ↓ ↓
► Audio Speech
► Video Speech
► Islami Books